अन्य
    Saturday, July 20, 2024
    अन्य

      रुचिकर विषय का ही चयन करें छात्र, अभिभावक अपनी इच्छा न थोपें

      नालंदा दर्पण डेस्क। राजगीर केंद्रीय विद्यालय में पीएम श्री योजना तहत छात्रों के लिए एक कैरियर काउंसलिंग वार्ता का आयोजन किया गया।

      मुख्य वक्ता मगध विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग की डॉ. मीनाक्षी ने छात्र-छात्राओं को दसवीं एवं बारहवीं कक्षा के बाद विषय चयन के महत्त्व को समझाते हुए बताया कि कई बार बच्चे सही मार्गदर्शन नहीं मिलने की वजह से ऐसे विषय या क्षेत्र का चयन कर लेते हैं, जिसमें उनकी रुचि नहीं होती है। बाद में विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना कैरियर काउंसेलिंग कार्यक्रम में शामिल बच्चे। उन्हें करना पड़ता है।

      उन्होंने बताया कि विज्ञान, वाणिज्य या कला सभी विषय महत्वपूर्ण हैं। सभी संकायों में अच्छे कैरियर की संभावनाएं हैं। इस वैश्वीकरण के युग में अनेकों प्रकार के सेवा क्षेत्र के अवसर उपलब्ध हैं। आवश्यकता सही समय पर सही निर्णय लेकर सही दिशा में प्रयास करने का है।

      डॉ. मीनाक्षी ने कहा कि अभिभावकों को भी अपने बच्चों पर अपनी इच्छा थोपने से पहले अपने बच्चों की भी राय लेनी चाहिए। जिस क्षेत्र में बच्चे अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए, सभी बच्चों में अलग अलग प्रतिभाएं होती हैं।

      उन्होंने कहा कि किसी की रुचि डॉक्टर, इंजीनियर बनने में है तो कोई कला, संगीत, खेल, शिक्षक, वकालत, प्राशासनिक अधिकारी, प्रबंधन, पत्रकारिता के क्षेत्र में कैरियर की तलाश कर रहे हैं। छात्रों ने अपने मन में कैरियर से संबंधित प्रश्न पूछे और मार्गदर्शन प्राप्त किया।

      इस सत्र के आरंभ में विद्यालय प्राचार्य विवेक किशोर ने हरित वसुंधरा द्वारा डॉ मीनाक्षी का स्वागत किया गया। वहीं सत्र के अंत में वरिष्ठ शिक्षिका डॉ सुषमा सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

      इस कार्यक्रम में राजेश कुमार, कमलेश कुमार, अमरजीत कुमार, विक्रम कुमार, मो. शाहबाज कमाल, रोहित वर्मा एवं मीडिया प्रभारी संजय कुमार रंजन उपस्थित रहे।

      अचानक खलिहान में लगी आग में 12 बीघा खेत की फसल राख

      हिलसा नगर में अधिवक्ता लिपिक को मारकर फंदा से लटका दिया

      राजगीर एयरपोर्ट निर्माण की प्रशासनिक तैयारी में तेजी, जमीन की पैमाइश शुरु

      नालंदा के सभी स्कूलों के बच्चों को ताजा अंडा और फल देने का आदेश

      किसान कॉलेज के प्रोफेसर संग अभद्र व्यवहार के लिए माफी मांगे मंत्री श्रवण कुमार : छोटे मुखिया

      संबंधित खबर

      error: Content is protected !!