अन्य
    Saturday, March 2, 2024
    अन्य

      जिलाधिकारी ने नवगठित नगर निकायों के कार्यालय संचालन को लेकर दिए कई अहम निर्देश

      “नालंदा जिला में पूर्व के पांच नगर निकाय तथा नवगठित 10 नगर निकायों को मिलाकर वर्तमान में कुल 15 नगर निकाय  हैं…

      नालंदा दर्पण डेस्क। नालंदा जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने नगर निकायों के कार्यों की समीक्षा की और सभी नवगठित नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारियों से संबंधित नगर निकाय के कार्यालय का संचालन, कर्मियों की उपलब्धता आदि के बारे में जानकारी ली गई।

      सभी नवगठित नगर निकायों के कार्यालय के संचालन हेतु अस्थाई रूप से व्यवस्था कर ली गई है। इन सभी नगर निकायों के कार्यों के संचालन हेतु एक-एक पदाधिकारी को नोडल पदाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है। साथ ही एक लेखापाल तथा एक कंप्यूटर ऑपरेटर की भी प्रतिनियुक्ति तत्काल व्यवस्था के तहत पूर्व में की गई है।

      जिलाधिकारी ने कहा कि इनमें से जिन भी  नवगठित नगर निकायों में स्थानांतरण या अन्य कारणों से पूर्व में प्रतिनियुक्त किए गए पदाधिकारी / कर्मी वर्तमान में उपलब्ध नहीं हैं, इसके लिए 24 घंटे के अंदर पदाधिकारियों / कर्मियों की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित की जा रही है।

      सभी नवगठित नगर निकाय में आरटीपीएस काउंटर के संचालन हेतु नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा कार्यपालक सहायकों को पदस्थापित किया गया है, कुछ नगर निकायों में इनके द्वारा योगदान नहीं दिया गया है।

      संबंधित नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारियों को पदस्थापित किए गए कर्मियों का त्वरित योगदान सुनिश्चित कराने को कहा गया। कार्यालय में प्रतिनियुक्त सभी पदाधिकारी/कर्मियों की नियमित उपस्थिति सुनिश्चित कराने को कहा गया।

      सभी नगर निकायों में निविदा के माध्यम से आउटसोर्सिंग एजेंसी द्वारा साफ-सफाई का कार्य कराया जा रहा है। इस व्यवस्था का अच्छे ढंग से मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने का निर्देश सभी कार्यपालक पदाधिकारियों को दिया गया।

      निविदा की शर्तों के अनुरूप आउटसोर्सिंग एजेंसी द्वारा उपलब्ध कराए गए सफाई कर्मी/पर्यवेक्षक के लिए बायोमेट्रिक हाजरी की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा गया। प्रत्येक शिफ्ट में कर्मियों के आने एवं जाने के समय को बायोमेट्रिक पद्धति से दर्ज कराने का निदेश दिया गया।

      एजेंसी द्वारा प्रतिनियुक्त सफाई कर्मियों एवं पर्यवेक्षक को निविदा की शर्तों के अनुरूप निर्धारित पारिश्रमिक का भुगतान एवं अन्य शर्तों के अनुपालन के सत्यापन के उपरांत ही अगले माह का भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

      जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त को सभी नवगठित नगर निकाय के साफ-सफाई की वर्तमान व्यवस्था की समीक्षा करने को कहा। सभी नगर निकायों में डोर टू डोर सर्वे करा कर नल-जल के कनेक्शन से वंचित घरों को चिन्हित कर सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया गया।

      सभी छूटे हुए घरों को नल जल योजना से आच्छादित करने के लिए आवश्यकतानुसार योजनाओं की स्वीकृति नवनिर्वाचित बोर्ड के माध्यम से सुनिश्चित कराते हुए इसका त्वरित क्रियान्वयन प्राथमिकता देते हुए कराने को कहा गया।

      सभी नगर निकायों में टाउन वेंडिंग कमिटी के गठन के लिए संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी के माध्यम से प्रस्ताव भेजने का निर्देश सभी कार्यपालक पदाधिकारियों को दिया गया।

      जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा कि बैठक में दिए गए निर्देशों का पूरी पारदर्शिता एवं ईमानदारी के साथ अनुपालन सुनिश्चित कराएं।

      उन्होंने कहा कि मार्च माह के प्रथम सप्ताह में उनके द्वारा पुनः समीक्षा की जाएगी। बैठक में नगर आयुक्त तरनजोत सिंह तथा अन्य नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी उपस्थित थे।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!