अन्य
    Sunday, June 23, 2024
    अन्य

      पर्यटकों को लुभाता है मनोरम वादियों की गोद में बसा यह घोड़ाकटोरा

      नालंदा दर्पण डेस्क। मोहक सुंदरता समेटे मगध साम्राज्य की ऐतिहासिक राजधानी राजगीर के कई ऐसे इलाके हैं, जो अभी सुर्खियों में है। ऐसा ही एक स्थल है घोड़ाकटोरा।

      घोड़ाकटोरा झील 1पहाड़ियों से घिरा यह वनाच्छादित क्षेत्र प्राकृतिक खूबसूरती के मामले में किसी से कम नहीं है। यहां कश्मीर के झीलों की तरह एक बड़ा झील है, जो प्रकृति का उपहार है गंगा जलाशय भी घोड़ाकटोरा झील के समीप ही है। लेकिन उन दोनों स्थान पर पहुंचने के मार्ग अलग-अलग है।

      घोड़ाकटोरा का मतलब है घोड़े का कटोरा। यह भारत के प्राचीन शहरों में शुमार राजगीर का एक प्राकृतिक झील है। झील का आकार घोड़े जैसा है। यह तीन तरफ से पहाड़ों से घिरी है।

      यह झील सर्दियों के मौसम में साइबेरिया और मध्य एशिया से प्रवासी पक्षियों को आकर्षित करती है। घोड़ाकटोरा झील राजगीर के विश्वशांति स्तूप से करीब आठ किलोमीटर दूर एक प्राकृतिक स्थल है।

      पौराणिक किंवदंतियों के अनुसार मगध के पराक्रमी सम्राट जरासंध का यह घुड़शाल हुआ करता था। इसलिए इस जगह का नाम घोड़ा कटोरा पड़ा। पहाड़ियों से घिरा यह स्थल काफी मनमोहक और प्राकृतिक सम्पदा से लवरेज है। इस झील में नौका विहार का आनंद लोगों को रोमांचित करता है।

      इको पर्यटन स्थल होने के कारण यहां केवल कार्बन मुक्त वाहन का परिचालन होता है। पहले टमटम और ई रिक्शा से पर्यटक यहाँ तक पहुंचते थे। लेकिन अब केवल ई रिक्शा ही पर्यटकों को यहां तक पहुंचने में मदद करते हैं।घोड़ाकटोरा झील 2

      इस झील की प्राचीन प्राकृतिक शैली और इसके बीचों बीच भगवान बुद्ध की विशाल प्रतिमा पर्यटकों को काफी आकर्षित करती है। घोड़ाकटोरा झील कच्ची सड़क से पहाड़ों और जंगलों के बीच प्रकृति का आनन्द लेते हुए पर्यटक यहां पहुंचते हैं।

      इस सड़क का मेंटेनेंस हर साल पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के द्वारा की जाती है। यहां तक पहुंचने के लिए केवल धुआं रहित गाड़ियां चलती है। इलेक्ट्रिक या बैटरी चालित गाड़ियों से आने जाने की सुविधा है।

      घोड़ाकटोरा झील का मनोरम नजारा और अद्भुत दृश्य देखकर सैलानी प्रकृति की गोद में होना महसूस करते हैं। झील के बगल में ही इको पार्क है। वह भी सैलानियों को काफी सुकून देता है।

      कश्मीर के झीलों की तरह घोड़ाकटोरा झील में भी नौका विहार की सुविधा उपलब्ध है। दर्जनों सैलानी यहाँ एक साथ नौका विहार करते हैं। प्रकृति की गोद में झील का आनंद लेकर सैलानी कश्मीर का लुफ्त उठाते हैं।

      घोड़ाकटोरा झील राजगीर के पसंदीदा पर्यटन स्थलों की सूची में उल्लेखनीय है। ड़ाकटोरा में अन्य स्थानों की तरह बड़ी संख्या में देशी-विदेशी सैलानी इस मनोरम दृश्य का आनंद लेने के लिये आते हैं।

      झील में नौका विहार करने के लिए भी बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। नव कपल भी अब बड़ी संख्या में इस मनोरम वादियों की सुंदरता का आनंद लेने के लिए पहुंचने लगे हैं। अन्य पर्यटन स्थलों की तरह सरकार द्वारा यहां भी सैलानियों के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। यहां दर्जनों पैडल और मोटर बोट की व्यवस्था है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!