अन्य
    Monday, February 26, 2024
    अन्य

      जानें राजगीर के लिए क्यों खास है वर्ष 2024 ?

      नालंदा दर्पण डेस्क। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगर राजगीर में अनेकों बड़ी योजनाओं का निर्माण कार्य वर्षों से किया जा रहा है। उनमें कई योजनाओं का निर्माण कार्य पूरा होने वाला है।

      वैसे ही योजनाओं में राजगीर के समीप निर्माणाधीन राजकीय खेल अकादमी है। खेल अकादमी बनकर लगभग तैयार है। अधिकांश खेल मैदान और भवन बनकर तैयार है। बाकी बचे खेल मैदान और भवनों का निर्माण कार्यों को शीघ्र पूरा करने का आदेश भवन निर्माण विभाग के सचिव और पटना प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि द्वारा दिया गया है। खेल अकादमी के साथ खेल विश्वविद्यालय का सौगात भी इस साल मिल सकता है।

      बिहार दिवस के मौके पर नये साल का यह तोहफा राजगीर और प्रदेश को मिल सकता है। बिहार दिवस 2022 के मौके पर ही राजगीर को खेल विश्वविद्यालय और राजकीय खेल अकादमी का सौगात देने की सरकार द्वारा योजना बनाई गई थी।

      तत्कालीन कला, संस्कृति एवं युवामंत्री डॉ आलोक रंजन झा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सचिव अनुपम कुमार, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव बंदना प्रेयसी, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर, भवन निर्माण विभाग के सचिव एवं पटना प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि सहित अनेकों वरीय पदाधिकारियों द्वारा इसका निरीक्षण किया गया था। बिहार दिवस पर उद्घाटन की प्लानिंग भी की गयी थी। लेकिन निर्माण कार्य पूरा नहीं होने के कारण उद्घाटन कार्यक्रम टल गया था।

      इस वर्ष अकादमी का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो गया है, लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण कछुए की चाल की गति से करायी जा रही है। इसलिए स्टेडियम के लिए अभी और इंतजार करना होगा। राजगीर में बन रहे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य भी इसी वित्तीय वर्ष में पूरा होने वाला है। जिला प्रशासन के दबाव पर निर्माण एजेंसी द्वारा निर्माण कार्य में तेजी लाई गयी है।

      अनुमान है कि ओवर ब्रिज का उद्घाटन और एलिवेटेड रोड का शिलान्यास एक साथ हो सकता है। नये साल में नालंदा विश्वविद्यालय, बिहार पुलिस अकादमी और सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर आदि को गंगाजल की आपूर्ति भी होने वाली है। इसके लिए वाटर सम्प का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो गया है। जल मीनार का निर्माण कराया जा रहा है।

      इसके अलावा पर्यटक शहर राजगीर को और नया तोहफा मिलने वाला है। उसमें एक डायनासोर पार्क का निर्माण भी है। राजगीर के नेचर सफारी का ग्लास ब्रिज देश में इतना प्रसिद्ध हो गया है कि देशी-विदेशी सैलानियों की इच्छा को वह पूरा करने में सफल नहीं कर रहा है। इसलिए राजगीर में एक और ग्लास ब्रिज बनाने की योजना पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग बनाया गया है।

      इस योजना का आधारशिला भी इसी साल रखी जा सकती है। राजगीर में निर्माणाधीन जरासंध स्मृति पार्क का निर्माण देव उठान पर्व तक पूरा करने का लक्ष्य है। इसका उद्घाटन मगध सम्राट जरासंध के जन्मोत्सव पर किया जाना लगभग तय है।

      विश्व धरोहर नालंदा के समीप के पुरातत्व संग्रहालय को 100 साल बाद अपना भवन बनने वाला है। इसके लिए केंद्र सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा 22 करोड़ रुपये का आवंटन स्वीकृत किया गया है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा निर्माण कार्य की औपचारिकताओं को पूरा किया जा रहा है।

      1 COMMENT

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!