अन्य
    Friday, April 12, 2024
    अन्य

      प्रेम प्रसंग में युवक की आंख फोड़कर हत्या मामले में 3 किशोर समेत 4 गिरफ्तार

      राजगीर (नालंदा दर्पण)। राजगीर नगर के एक कंप्यूटर कोचिंग सेंटर के किशोर छात्र की नृशंस हत्या करने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। हत्यारों द्वारा मृतक के दोनों पैर को तोड़ दिया गया है और दोनों आंखें भी फोड़ दी गयी है। किशोर की गला दबाकर हत्या कर दी गयी है।

      पुलिस द्वारा मृतक के शव को सिलाव नगर पंचायत के विश्वकर्मा टोला से बरामद किया गया है। मृतक की पहचान गया जिले के नीमचक बथानी थाना क्षेत्र के बथानी निवासी प्रेमचंद्र चौरसिया के पुत्र गौरव कुमार (16 वर्ष) के रुप में की गयी है। बिहारशरीफ सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस द्वारा परिजनों को शव सौंप दिया गया है।

      थानाध्यक्ष चन्द्रभानु ने बताया कि इस अपहरण एवं हत्याकांड में शामिल सभी चार अपराधियों को राजगीर पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस कांड में तीन विधि विरुद्ध बालकों को निरूद्ध किया गया है। हत्याकांड के सभी आरोपित खुदागंज थाना क्षेत्र के बौरी सराय निवासी हैं।

      उन्होंने बताया कि एक सप्ताह के भीतर सभी अभियुक्तों के खिलाफ चार सीट न्यायालय को समर्पित कर दिया जायेगा। थानाध्यक्ष ने बताया कि गौरव कुमार के अपहरण और 10 लाख रुपये फिरौती की मांग की प्राथमिकी 23 मार्च को दर्ज करायी गयी थी।

      फिरौती नहीं देने पर बुरा अंजाम भुगतने की धमकी भी दी गयी थी। जिस मोबाइल से फिरौती की मांग की गयी थी। वह मोबाइल मृतक के दोस्त का था।

      पुलिस द्वारा उस मोबाइल का कॉल डिटेल्स निकालने के बाद मोबाइल लोकेशन के आधार पर सभी अपराधियों को उसके गांव बौरी सराय से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार शुभम और अन्य किशोरों से पूछताछ करने पर हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गयी है।

      पुलिस के अनुसार मृतक के बहन की गोतनी की बेटी से उसका इश्क चल रहा था। गौरव का हत्यारा कोई और नहीं, बल्कि उसका रिश्तेदार है। पुलिस के अनुसार यह हत्याकांड सुनियोजित है।

      घटना के करीब 15 दिन पहले सिलाव के विश्वकर्मा टोला में किराये पर एक कमरा लिया था। उसने मीट चावल की पार्टी में शामिल होने के बहाने गौरव को बुलाया और उसकी बेरहमी से निर्मम हत्या कर दी।

      पुलिस द्वारा पूछताछ में आरोपितों ने गौरव कुमार को हत्या करने की बात को स्वीकार किया है। आरोपितों की निशानदेही पर गौरव कुमार के शव को सिलाव के विश्वकर्मा टोला से बरामद किया गया है। पुलिस के अनुसार मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है।

      थानाध्यक्ष ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज करने के दूसरे दिन ही सिलाव के विश्वकर्मा टोला से अपहृत किशोर का शव बरामद कर लिया है। इस हत्याकांड के सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

      प्राथमिकी में अपहरण और फिरौती मांगने का है आरोपः मृतक के पिता प्रेमचंद्र चौरसिया, पिता रामरूप चौरसिया, साकिन बथानी, थाना नीमचक बथानी, जिला-गया द्वारा राजगीर थाना में शनिवार (23 मार्च) को दो अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।

      वादी द्वारा प्राथमिकी में दो अपराधियों पर गौरव कुमार को अपहरण कर 10 लाख रुपये फिरौती मांगने का गंभीर आरोप लगाया गया है। गौरव राजगीर शहर के एक कंप्यूटर कोचिंग में कंप्यूटर की पढ़ाई करता था।

      हर दिन की तरह 22 मार्च को भी वह घर से बाइक लेकर कोचिंग के लिए निकला था। लेकिन देर शाम तक वह घर वापस नहीं लौटा।

      परिजनों द्वारा काफी तलाश करने के बाद भी उसका कोई अता पता नहीं चला। तब 23 मार्च को राजगीर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी।

      देसी कट्टा के साथ शराब पीते युवक का फोटो वायरल, जानें थरथरी थानेदार का खेला

      नालंदा जिला दंडाधिकारी ने इन 48 अभियुक्तों पर लगाया सीसीए

      राजगीर नेचर-जू सफारी समेत केबिन रोपवे का संचालन बंद

      नालंदा में 497 हेडमास्टर का वेतन बंद, शोकॉज जारी, जानें क्या है मामला

      बिहारशरीफ पहुंची IG गरिमा मल्लिक, SP समेत पुलिस अफसरों की लगाई क्लास

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!