अन्य
    Monday, April 15, 2024
    अन्य

      KK पाठक की बड़ी कार्रवाई, DEO का वेतन बंद, 2 BEO सस्पेंड, HM पर FIR का आदेश

      नालंदा दर्पण डेस्क। बिहार में शिक्षा विभाग बीते जुलाई 2023 के बाद लगातार स्कूलों की जांच कर रही है, लेकिन, जिले के अधिकारियों व कर्मियों की जांच में कोई गड़बड़ी सामने नहीं आती है। जबकि, निदेशालय स्तर की जांच में गड़बड़ियों की भरभार मिलती है। इसकी पुष्टि शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारियों की जांच से ही होती है।

      खबरों के अनुसार शिक्षा विभाग के उपनिदेशक शिवनाथ प्रसाद ने 9 फरवरी को हिलसा प्रखंड के चिकसौरा हाईस्कूल व मध्य विद्यालय और इन्दौत मध्य विद्यालय करायपसुराय प्लस-2 स्कूल की जांच की थी।

      इस दौरान स्कूलों में गड़बड़ियों की भरमार पाई गई। जिसको लेकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने पत्र जारी कर करायपुसराय व हिलसा के बीईओ को निलंबित करने का आदेश दिया है।

      गिरफ्तारी के आदेश: साथ ही प्राथमिकी कर गिरफ्तारी का आदेश दिया है। वहीं, करायपसुराय प्लस-2 स्कूल में प्रायोगिक परीक्षा 2024 में गड़बड़ी करने पर एचएम राजीव नयन और कॉपी जांचकर्ता पर एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी किया है।

      साथ ही, हिलसा के चिकसौरा व इन्दौत मध्य विद्यालय के एचएम समेत शिक्षकों का वेतन बंद करते हुए विभागीय कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

      11वीं कक्षा के एक भी छात्र नहीं थे उपस्थित: जिले के स्कूलों में शैक्षिक व्यवस्था लचर होने पर डीईओ का वेतन बंद कर विभागीय कार्रवाई करने का आदेश जारी किया गया है।

      गौरतलब है कि करायपसुराय प्लस-2 स्कूल में नामांकन के अनुरूप उपस्थिति कम मिली थी। 11वीं कक्षा के विज्ञान संकाय के एक भी विद्यार्थी उपस्थित नहीं पाया गया था।

      मिशन दक्ष की तर्ज पर विशेष कक्षाएं नहीं: 9वीं कक्षा के छात्रों ने बताया कि वर्ग का संचालन साढ़े तीन बजे तक होता है। मिशन दक्ष की तर्ज पर विशेष कक्षाएं नहीं चलती हैं।

      एचएम ने भी वर्ग संचालन नहीं होने की बात स्वीकार की है। प्रायोगिक परीक्षा के लिए बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराई गई। उत्तर पुस्तिका की जांच करने पर पता चला कि अंक देने में गड़बड़ी की गई है।

      विद्यालय में पठन-पाठन कार्य बाधित: उत्तर पुस्तिका के पहले पन्ने पर कुल प्राप्तांक अंकित है। लेकिन, प्रत्येक प्रयोग के लिए अलग-अलग अंक अंकित नहीं मिला है।

      प्रभारी एचएम द्वारा जान-बुझकर एक ही साथ तीन शिक्षकों की छुट्टी की स्वीकृति कर दी। विद्यालय में पठन-पाठन कार्य बाधित मिला। प्रयोगशाला में मानक के अनुरूप उपकरण भी नहीं थे।

      कई शिक्षक मिले अनुपस्थित: रासायनिक अवयव भी कई साल से यथावत पड़े रहने के संकेत मिले। एचएम को शैक्षणिक कार्य में कोई रुचि नहीं होने का मामला प्रतीत हुआ।

      इस दौरान निरीक्षण में एक शिक्षक मो. अरशद आलम के अनुपस्थित रहने पर एक दिन की वेतन कटौती करने का आदेश दिया गया है। एचएम पर अनुशासनिक कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।

      तीसरी, चौथी, पांचवीं व छठीं कक्षाओं में पठन-पाठन नहीं: इंदौत +2 में अधिकारी की जांच में तीसरी, चौथी, पांचवीं व छठीं कक्षाओं के बच्चे वर्ग कक्ष में बैठकर शोर-गुल करते पाए गए। वर्ग कक्ष में शिक्षक उपस्थित नहीं मिले।

      जबकि, स्कूल में एचएम समेत आठ शिक्षक तैनात थे। शिक्षकों की उपस्थिति जांच में एचएम रामनरेश प्रसाद 3 फरवरी से स्कूल से अनुपस्थित पाए गए।

      एक शिक्षक रंजीत पासवान ने अधिकारियों को बताया कि एचएम आकस्मिक अवकाश में हैं। जबकि, बीईओ ने आकस्मिक अवकाश की सूचना नहीं होने की जानकारी दी।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=tPhcVgqOdes[/embedyt]

      युवक ने नग्न अवस्था में मोबाइल से ऑनलाइन वीडियो दिखाते हुए लगा ली फांसी

      सरस्वती पूजा-शबे बारात को लेकर डीएम की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक

      बिहारशरीफ सदर अस्पताल में नवजात की मौत मामले में सिविल सर्जन को लगी कड़ी फटकार

      रामघाट में उपमुख्यमंत्री एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी का भव्य स्वागत

      शेखाना हाई स्कूल केंद्र में बाउंड्री फांदने वाले 10 इंटर परीक्षार्थियों पर कार्रवाई

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!