अन्य
    Sunday, April 21, 2024
    अन्य

      अब नालंदा के किसानों के लिए देसी-विदेशी सब्जियों की खेती करना हुआ आसान

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। बिहार राज्य में नालंदा जिला सब्जी की राजधानी भी कहा जाता है। सब्जियों की बढ़ती मांग को देखते हुए अब जिले में देसी और विदेशी सब्जी खेती क्लस्टर बनाकर की जाएगी। किसानों को सरकार द्वारा 75 फीसद अनुदान पर विदेशी सब्जियों के पौधे तो हाईब्रिड सब्जी के बीज मुहैया कराये जाएंगे।

      सब्जी विकास योजना के तहत जिले के तीन नगर निकाय तो 28 पंचायतों के 61 गांवों का चयन सब्जी क्लस्टर में कर लिया गया है। प्रत्येक क्लस्टर में 20 से 25 किसानों को शामिल किया गया है।

      क्लस्टर बनाने में उन गांवों को प्राथमिकता दी गयी है, जहां पहले से सब्जी की खेती में किसान रुचि ले रहे हैं। हालांकि, अन्य गांवों के किसान भी सब्जी की खेती को इच्छुक हैं तो वे प्रखंड उद्यान पदाधिकारी को आवेदन दे सकते हैं। उन्हें भी क्लस्टर बनाने का मौका मिलेगा।

      किसानों को मिलेंगे पौधेः पिछले साल तक चंडी सीओई (सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वेजिटेबल) से सभी  किसानों को अनुदान पर देसी व सीओई से सिर्फ क्लस्टर से जुड़े विदेशी सब्जी के पौधे मिलते थे।

      सीओई से अनुदान पर विदेशी सब्जी के पौधे किसानों को मिलेंगे। जबकि, सब्जी की देसी वेरायटी के बीज ले सकते हैं। क्लस्टर में खेती करने से किसानों को लागत में कमी आएगी और उपज अधिक मिलेगी।

      परंतु, अब उन्हीं किसानों को यहां से पौधे मिलेंगे, जिनका चयन सब्जी क्लस्टर के लिए किया गया है। शर्त यह भी कि कम से कम ढाई हजार पौधे की मांग करनी होगी।

      इन प्रभेदों के पौधे मिलेंगे: विदेशी कलर शिमला मिर्च, ब्रोकली, बीज रहित खीरा व बीज रहित बैंगन, फूलगोभी, पत्तागोभी, प्याज व आलू बैगन, मिर्च व लॉकी (गरमा सीजन)।

      इन गांवों में बने सब्जी क्लस्टरः

      1. बिहारशरीफः नगर निगम क्षेत्र, कोरई, रामनगर, पचौरी, राजाकुआं, समस्ती
      2. नूरसरायः मेयार, जमुनापुर, ककड़िया, बड़ारा, कखड़ा मंडाच्छ, सरदार बिगहा, अंधना, चरुईपर, कोकलकचक, खेमन बिगहा, मुजफ्फरपुर, कथौली।
      3. नगरनौसाः प्रेमन बिगहा, रामचक, गढ़ियाघर, कुड़वापर।
      4. चंडीः माधोपुर, अनंतपुर।
      5. हिलसाः दाहा बिगहा, लोहंडा, मदारपुर।
      6. सिलावः धरहरा, रघु बिगहा, नानंद।
      7. गिरियकः चोरसुआ।
      8. रहुईः मिल्कीपर, अम्बा, देकपुरा, मिर्जापुर, साहपुर, इतासंग, भदवा, पचासा।
      9. इस्लामपुरः हैदरवक, बरदाहा, सरथुआ, बैरा, केवाली, जेठौना, कोचरा, मदारगंज, चैनपुर, बनवार, बेलदारी बिगहा, बौरीसराय, बौरीडीह, पनहर।
      10. परवलपुरः दादूपुर, मिर्जापुर, पिलीछ, धनावां, गौरवनगर, हरप्रसाद बिगहा, सीता बिगहा, कतरू बिगहा, पवई।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=oLxyjgUfNdg[/embedyt]

      वाहन चेकिंग के दौरान चांदी की तस्करी के आरोप में बाइक सवार 2 युवक गिरफ्तार

      राजगीर सूर्य कुंड के जल से बनता है खरना का प्रसाद, सांध्य अर्ध्य बाद होती है गंगा आरती

      सिर्फ कागज पर रेफरल अस्पताल में परिवर्तित हुआ चंडी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र !

      एकंगरसराय प्रखंड में जिला प्रशासन द्वारा किया गया जन संवाद कार्यक्रम

      आग जनित दुर्घटनाओं से बचने के लिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=cyOCYJGe38k[/embedyt]

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!