अन्य
    Sunday, June 23, 2024
    अन्य

      हरनौत, चंडी, नगरनौसा, नूरसराय, थरथरी प्रखंड के इन 17 ग्रामीण सड़कों की होगी मरम्मत

      नालंदा दर्पण डेस्क। ग्रामीण कार्य विभाग के तहत हरनौत डिविजन में तकरीबन डेढ़ दर्जन जर्जर और पुराने ग्रामीण सड़कों का कायाकल्प करने की प्रक्रिया विभाग ने शुरू कर दी है। इन सड़कों की मरम्मत और कायाकल्प करने पर विभाग 1163.74 लाख रुपए खर्च करेगा।

      हरनौत डिवीजन में कुल 37.47 किलोमीटर लंबी ग्रामीण सड़कों का जीर्णोद्धार किया जाएगा जिसमें चंडी, हरनीत, नगरनौसा, नूरसराय थरथरी प्रखंडों के ग्रामीण सड़कें शामिल हैं।

      बिहार ग्रामीण पथ अनुरक्षण नीति 2018 के तहत हरनीत डिवीजन के चंडी प्रखंड में चंडी से थरथरी टीम कुल 2.9 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिस पर विभाग 82.943 लाख रुपए खर्च करेगा। इसके अलावा सड़क मरम्मत के बाद अगले 5 वर्षों तक सड़कों के रखरखाव भी संवेदक को करना होगा। जिसके लिए अलग से 29.74 लख रुपए दी जाएगी।

      इसी प्रकार चंडी प्रखंड के चंडी-बिहार पथ से ब्लॉक तक की कुल 0.75 किलोमीटर लंबी सड़क का मरम्मती किया जाएगा। जिस पर 20.95 लाख खर्च किए जाएंगे। जबकि 7.70 लाख रूपए अगले 5 वर्षों तक रखरखाव पर खर्च किया जाएगा।

      वहीं नगरनौसा प्रखंड में नगरनौसा चेरो पथ से प्रसडीहा मोड़ से होते हुए मोनियमपुर तक कुल 3.20 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार कर कालीकरण किया जाएगा। जिस पर 95.59 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। संवेदक को अगले 5 वर्षों तक सड़क मरम्मती के बाद रखरखाव भी करना होगा। जिसके लिए 32.3 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है।

      वहीं एल 027 से भादरू बिगहा गांव तक कुल 2.45 किलोमीटर की लंबी सड़क का मरम्मत की जाएगी. जिस पर 70.466 लाख रुपए खर्च होंगे। जबकि अगले 5 वर्षों तक रखरखाव के लिए 23.93 लाख का प्रावधान किया गया है।

      इसके अलावा हरनौत प्रखंड में एल 036 से नर्चबार गांव तक कुल 1.015 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिस पर 27.80 लख रुपए खर्च होंगे और अगले 5 वर्षों तक सड़क के रखरखाव पर 10.35 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। जबकि एल 043 से सबनाहुआ गांव तक कुल 3.20 किलोमीटर लंबी सड़क की मरम्मती पर 78.255 लाख खर्च किए जाएंगे। इसके बाद रखरखाव पर 15.48 लाख रुपए खर्च किया जाएगा।

      वहीं मिल्कीपर से बराह होते हुए सिरसी चेरो नगरनौसा पथ तक कुल 8 किलोमीटर लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिस पर 254.009 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। सड़क मरम्मत के बाद अगले 5 वर्षों तक रखरखाव के लिए 80.69 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है।

      वहीं एनएच 30ए से चेरो गांव तक कुल 1.005 किलोमीटर की सड़क का भी जीर्णोद्धार किया जाएगा, जिस पर 34.96 लख रुपए खर्च होगा। जबकि अगले 5 वर्षों तक रखरखाव के लिए 10.27 लाख रुपए खर्च होगा।

      हरनौत डिवीजन के ही नूरसराय प्रखंड में एल 038 से संबलबिगहा गांव तक कुल 2 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा।  जिस पर 71.36 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। जबकि सड़क चालू होने के बाद अगले 5 वर्षों तक संवेदक को रखरखाव भी करना होगा। जिसके लिए 16.385 का प्रावधान किया गया है।

      वहीं एल045 से अजनौरा से ईसापुर गांव तक कुल 3 किलोमीटर की लंबी सड़क का कालीकरण किया जाएगा। जिस पर 106.32 लाख खर्च किए जाएंगे। जबकि अगले 5 वर्षों तक रखरखाव के लिए 31.28 लाख खर्च किया जाएगा।

      इसके अलावा इसी प्रखंड में शेरपुर गांव से कठनपूरा वाया रतनपुरा अजयपुर गांव की कुल 1.25 किलोमीटर लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिसके बाद रखरखाव पर 12.535 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।

      हरनीत डिवीजन में ही थरथरी प्रखंड में हिलसा नूरसराय रोड टी06 से बेदाना गांव तक कल 1.2 किलोमीटर की लंबी सड़क का बरामद किया जाएगा। जिस पर 31.80 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।

      वहीं एल 056 पमारा गांव सेएल 055 से नारायणपुर गांव तक कुल 1.23 किलोमीटर की लंबी सड़क का कालीकरण किया जाएगा। जिस पर 38.418 लख रुपए खर्च होंगे। इसके बाद अगले 5 वर्षों तक मरम्मती पर 12.977 लख रुपए खर्च करने का प्रावधान किया गया है।

      जबकि एल 124 धर्मपुर गांव से रघुनाथपुर गांव तक कुल 2.377 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिस पर 62.422 लाख खर्च किए जाएंगे। संवेदक अगले 5 वर्षों तक इस सड़क का रखरखाव भी करेंगे। इसके लिए 24.36 लाख रुपए खर्च करने का प्रावधान है।

      ग्रामीण कार्य विभाग एल 126 नारारी गांव से बलवापुर तक 0.85 किलोमीटर की लंबी सड़क का कालीकरण करेगा। जिस पर 29.64 लख रुपए खर्च किए जाएंगे। वहीं अगले 5 वर्षों तक सड़क के रखरखाव पर 7.15 लाख खर्च किए जाएंगे।

      इसके अलावा टी06 प्रतापपुर रोड से प्रेसबन्ना गांव तक कुल 1.20 किलोमीटर की लंबी सड़क का जीर्णोद्धार किया जाएगा। जिस पर 60.72 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। संवेदक को अगले 5 वर्षों तक 11.76 लाख रुपए से रखरखाव करना होगा।

      हरनौत डिवीजन के कार्यपालक अभियंता के अनुसार क्षेत्र के टूटी-फूटी अन्य वैसी सड़कें, जिसका बनाए हुए 5 वर्षों से अधिक हो गया है, उन सड़कों का चयन कर फिर से मरम्मती कर कालीकरण किया जाएगा। इसके लिए फिलहाल हरनौत डिवीजन में 17 ग्रामीण सड़कों का चयन किया गया है। जिस पर कार्य शुरू कर दिया गया है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले साल दिसंबर माह के अंत तक कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=y48YpcRyvTI[/embedyt]

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=e4IWV9sYu7k[/embedyt]

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=ZwIy65Cxag0[/embedyt]

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!