अन्य
    Sunday, April 21, 2024
    अन्य

      अस्थावां थाना पुलिस ने महज 5 घंटे में अपहृत को छुड़ाया, 2 अपहर्ता गिरफ्तार

      अस्थावां (नालंदा दर्पण)। अस्थावां थाना पुलिस ने फिरौती हेतु अपहृत को महज 5 घंटे के अंदर बरामद करते हुए दो अपहर्ता को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।

      बताया जाता है कि बीते 5 नवंबर को रॉबिन कुमार के द्वारा अस्थावां थाना को इस आशय की सूचना दर्ज कराई गई थी कि कि दीपक कुमार , कारू कुमार एवं अन्य अज्ञात के द्वारा उसका 19 वर्षीय भाई विकास कुमार समय करीब 13.15 बजे दिन में बिहारशरीफ से मोटर साईकिल पर मुर्गी का दाना लेकर आने के दौरान शेरपुर रेलवे ओभरब्रिज के पास मोटर साईकिल एवं स्कॉरपियो से ओभरटेक कर जबरन अपहरण कर लिया।

      उसके बाद अपहरणकर्ताओं के द्वारा वादी रॉबिन कुमार को फोन कर फिरौती के एवज में 8 लाख रूपए की मांग करने लगे, जिसके आलोक में अस्थावां थाना कांड संख्या 284 / 23 दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया।

      अपराधकर्मियों के द्वारा फोन कर फिरौती की राशि मधेपुर थाना काशीचक जिला नवादा में खंधा के पास पहुंचाने के लिए दबाब बनाये जाने लगा। रूपया नहीं देने पर जान से मार देने की धमकी देने लगे।

      घटना की गंभीरता को देखते हुए तत्काल कई टीमों को लगाया गया। तकनीकी एवं गुप्त सूचना के आधार पर वरीय पदाधिकारी के दिशा निर्देश में एक विशेष पुलिस टीम द्वारा अपहृत की बरामदगी एवं घटना में संलिप्त अपराधकर्मियों के गिरफ्तारी हेतु कार्ययोजना के अनुसार स्थानीय थाना से सहयोग प्राप्त कर ग्राम मधेपुर थाना काशीचक जिला नवादा स्थित खंधा के पास छापामारी की गयी।

      छापामारी के क्रम में अपहृत विकास कुमार को सकुशल बरामद किया गया तथा घटना वाले अपराधकर्मी दीपक कुमार पिता मनोज राम साकिन सुगुया थाना शेखोपुरसराय जिला शेखपुरा एवं गोलू कुमार पिता विजय प्रसाद साकिन मधेपुर थाना काशीचक जिला नवादा को गिरफ्तार किया गया।

      इस दौरान घटना में प्रयुक्त 3 मोबाईल सेट को बरामद किया गया है। घटना में शामिल अन्य अपराधकर्मियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस छापामारी की जा रही है और गिरफ्तार अभियुक्तों का अपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

      राजगीर सूर्य कुंड के जल से बनता है खरना का प्रसाद, सांध्य अर्ध्य बाद होती है गंगा आरती

      सिर्फ कागज पर रेफरल अस्पताल में परिवर्तित हुआ चंडी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र !

      एकंगरसराय प्रखंड में जिला प्रशासन द्वारा किया गया जन संवाद कार्यक्रम

      आग जनित दुर्घटनाओं से बचने के लिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन

      चंडी का माधोपुर बना ‘मिनी रेगिस्तान’, रेत के साये में बीत रही जिंदगी

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!