अन्य
    Monday, February 26, 2024
    अन्य

      राजगीर मलमास मेला सैरात की भूमि से अतिक्रमण हटाने का निर्णय

      नालंदा दर्पण डेस्क। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगर राजगीर अवस्थित मलमास मेला सैरात भूमि की पहले मापी करायी जायेगी। मापी बाद सैरात भूमि पर यदि किसी के द्वारा अतिक्रमण किया गया है, तो उसे अतिक्रमण मुक्त कराया जायेगा।

      Decision to remove encroachment from the land of Rajgir Malmas Fair Sairat

      नगर परिषद बोर्ड की सामान्य बैठक में इस आशय का प्रस्ताव को पारित किया गया है। शहर को स्वच्छ और सुन्दर बनाने के लिए सभी से सहयोग की अपेक्षा की गयी है। बैठक की अध्यक्षता मुख्य पार्षद जीरो देवी ने की।

      बैठक के बाद सहायक समाहत सह कार्यपालक पदाधिकारी सुश्री दिव्या शक्ति ने बताया कि पिछले दो बैठकों में पारित प्रस्तावों की संपुष्टि की गयी। उन पुरानी योजनाओं को बहुमत से पारित किया गया है। उन योजनाओं में गली, नाली और पीसीसी से संबंधित योजनाओं की संख्या अधिक है।

      उन्होंने बताया कि प्रत्येक वार्ड से दो- दो योजनाओं का प्रस्ताव बैठक में आया है। उसे बहुमत से पारित किया गया है। कुछ वार्डों में दो से अधिक योजनाओं पर भी चर्चा हुई है। बोर्ड की बैठक में नल जल और बिजली की समस्या पर भी चर्चा हुई है। संबंधित विभागों के माध्यम से उन समस्याओं का यथाशीघ्र निदान कराने का आश्वासन दिया गया है। शहरी क्षेत्र के आवास योजना की भी समीक्षा बैठक में की गयी।

      सम्राट अशोक भवन और अतिथि भवन के रखरखाव और उसके सैरात बंदोबस्ती की चर्चा बोर्ड की बैठक में की गयी। निर्णय लिया गया कि उच्चाधिकारियों से अनुमति प्राप्त कर अग्रेतर कार्रवाई करने का प्रस्ताव पारित किया गया है।

      बैठक में नगर परिषद क्षेत्र के जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों की मनमानी, कम अनाज देने आदि शिकायतों को लेकर भी चर्चा की गयी। संबंधित विभाग द्वारा शिकायतों को दूर करने का भरोसा पार्षदों को दिया गया है। शहर में होटलों और धर्मशालाओं से नगर परिषद यूजर्स चार्ज वसूल करेगा। इस आशय का प्रस्ताव भी बहुत से पारित किया गया है।

      कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि सर्वे के मुताबिक शहर में होटलों और धर्मशालाओं की संख्या 107 है। उनसे यूजर्स चार्ज वसूल करने का प्रस्ताव बहुमत से पारित किया गया। हालांकि कुछ सदस्यों ने इसका विरोध भी किया गया बावजूद प्रस्ताव बहुमत से पारित किया गया।

      उन्होंने बताया कि शून्य से 10 किलो कचरा पर डेढ़ हजार रुपये, 10 किलो से 50 किलो कचरा पर तीन हजार रुपये और 50 किलो से अधिक कचरा पर पांच हजार रुपये मासिक यूजर्स चार्ज वसूल करने का प्रस्ताव पारित किया गया है। इसे पहली जनवरी से लागू किया जायेगा।

      कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि शहर में तीन स्थानों पर ब्रह्मकुंड के पास, अनुमंडलीय अस्पताल के पास और बस स्टैंड के पास नगर परिषद द्वारा अलाव की व्यवस्था की गयी है। आवश्यकता अनुसार इसे अन्य चौक चौराहे और मोड़ पर बढ़ाया जाएगा।

      शीतलहर और बढ़ती ठंड को देखते हुए डॉ अनिल कुमार और महेन्द्र यादव द्वारा शहर में प्रति वार्ड 200 कंबल वितरण कराने का प्रस्ताव दिया गया। लेकिन कुछ वार्ड पार्षदों के विरोध के कारण यह प्रस्ताव पारित नहीं हो सका।

      बैठक में मुख्य पार्षद जीरो देवी के अलावा उप मुख्य पार्षद मुन्नी देवी, वार्ड पार्षद डॉ अनिल कुमार, महेंद्र यादव, श्याम देव राजवंशी, सुनीता देवी, गीता देवी, राजबल्लभ पासवान एवं अन्य उपस्थित थे। पदाधिकारियों में केवल पीएचईडी की सहायक अभियंता हरजोत कौर बैठक में शामिल हुईं।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here

      This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

      - Advertisment -
      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!