अन्य
    Friday, April 19, 2024
    अन्य

      पावापुरी महोत्सव लेकर नालंदा डीएम-एसपी ने स्थल निरीक्षण कर दिए कई अहम निर्देश

      पावापुरी (नालंदा दर्पण)। भगवान महावीर के 2549 वें परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर कला संस्कृति एवं युवा विभाग के तत्वावधान में जिला प्रशासन नालंदा द्वारा दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव का आयोजन 11 एवं 12 नवंबर को किया जा रहा है। जिसका उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा 11 नवंबर को किया जायेगा।

      Regarding Pawapuri Mahotsav Nalanda DM SP inspected the site and gave many important instructions. 1महोत्सव के सफल आयोजन को लेकर 21 कोषांगों का गठन किया गया है। विभिन्न पदाधिकारियों को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है तथा सहयोग हेतु अन्य पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है।

      जिलाधिकारी शशांक शुभंकर एवं पुलिस अधीक्षक श्री अशोक मिश्रा ने आज पावापुरी में महोत्सव स्थल का निरीक्षण किया तथा सभी कोषांगों के पदाधिकारियों एवं दिगंबर जैन समिति तथा श्वेताम्बर जैन समिति के सदस्यों के साथ कार्यक्रम स्थल पर ही बैठक किया। सभी पदाधिकारियों को अपने-अपने दायित्वों का समयबद्ध ढंग से निर्वहन सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया।

      महोत्सव के अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा अलग अलग स्टॉल लगाया जाएगा। भगवान महावीर के जीवन संदेश पर आधारित सैंड आर्ट भी प्रदर्शित किया जायेगा।

      इस अवसर पर साफ सफाई, पेयजल, शौचालय, पार्किंग, मेडिकल शिविर, अग्निशमन आदि की व्यवस्था को लेकर संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निदेश दिया गया।

      जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने कार्यक्रम स्थल, हेलिपैड स्थल, दिगंबर जैन मंदिर, श्वेताम्बर जैन मंदिर आदि का स्थल निरीक्षण किया तथा विधि व्यवस्था एवं अन्य बिंदुओं को लेकर संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निदेश दिया।

      इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक, उपविकास आयुक्त,अपर समाहर्त्ता, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर सहित अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी, श्वेतांबर मंदिर के प्रबंधक गीतम मिश्रा, दिगंबर मंदिर के प्रबंधक अरुण कुमार जैन, कमल जैन, चंदन जैन, अजय कुमार, मुख्य पार्षद रवि शंकर कुमार, बीडीओ पवन कुमार ठाकुर,  सीओ सोनम राज, ईओ भावना कुमारी आदि उपस्थित थे।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=FR62cEzCLjk[/embedyt]

      राजगीर सूर्य कुंड के जल से बनता है खरना का प्रसाद, सांध्य अर्ध्य बाद होती है गंगा आरती

      सिर्फ कागज पर रेफरल अस्पताल में परिवर्तित हुआ चंडी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र !

      एकंगरसराय प्रखंड में जिला प्रशासन द्वारा किया गया जन संवाद कार्यक्रम

      आग जनित दुर्घटनाओं से बचने के लिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन

      चंडी का माधोपुर बना ‘मिनी रेगिस्तान’, रेत के साये में बीत रही जिंदगी

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=lgntdim1uZU[/embedyt]

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!