अन्य
    Monday, April 15, 2024
    अन्य

      नालंदा के इन 43 फर्जी शिक्षकों पर गिरेगी गाज, जानें पूरा मामला, देखें सूची

      बिहारशरीफ (नालंदा दर्पण)। नालंदा जिले में फर्जी नियोजित शिक्षकों की बाढ़ आ गई है। यहां फर्जी नियोजित शिक्षकों के पकड़े जाने का सिलसिला लगातार जारी है। इनमें बड़ी संख्या में एक ही नाम के अभ्यर्थी, अलग-अलग जिलों में शिक्षक के रूप में नियोजित होकर बच्चों के साथ-साथ सरकार के साथ भी फर्जीवाड़ा कर रहे हैं।

      इस बार सक्षमता परीक्षा के लिए नालंदा जिला शिक्षा कार्यालय को प्राप्त आवेदनों में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को एक बार फिर बड़ी संख्या में ऐसे शिक्षक अभ्यर्थी मिले हैं जिनके नाम, पिता का नाम, माता का नाम के साथ- साथ टीईटी रोल नंबर, टीईटी का सर्टिफिकेट नंबर आदि एक ही पाया गया है।

      हद तो यह हो गई की एक ही प्रमाण पत्र पर एक ही विद्यालय में दो दो शिक्षक कार्य कर रहे हैं। नालंदा जिला में ही पूजा कुमारी नाम की दो शिक्षिका हिलसा प्रखंड के मध्य विद्यालय चिकसौरा में ही काम कर रही है।

      इसी प्रकार सोफिया तरन्नुम नाम की दो-दो शिक्षिकाएं सरमेरा प्रखंड के एक ही विद्यालय उत्क्रमित मध्य विद्यालय बढ़िया में कार्यरत हैं। वहीं बाबूलाल चौधरी नाम के दो शिक्षक बिहार शरीफ प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय मेहनौर में कार्य कर रहे हैं।

      यह आश्चर्य की बात है कि जिला शिक्षा कार्यालय को इसकी भनक आज तक नहीं लगी। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के द्वारा सक्षमता परीक्षा के बहाने इन फर्जी शिक्षकों का ब्योरा जुटाया गया है।

      कई फर्जी शिक्षक तो अलग-अलग जिलों में कार्यरत रहने से प्रशासन की नजरों से अवश्य ओझल थे। लेकिन एक ही विद्यालय में एक ही नाम तथा माता, पिता के नाम के शिक्षकों को विभाग ने अभी तक चिन्हित नहीं किया। यह हैरानी की बात है।

      सक्षमता परीक्षा के आवेदनों में से पूर्व में भी बिहार बोर्ड के द्वारा जिले के 26 संभावित फर्जी शिक्षकों की सूची जारी की गई थी। इस बार दूसरी सूची में फर्जी संभावित फर्जी शिक्षकों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। इस प्रकार अब तक जिले के 69 शिक्षक बिहार बोर्ड के रडार पर हैं।

      इसके पूर्व भी निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के अधिकारी के द्वारा जिले के 79 फर्जी नियोजित शिक्षकों पर प्राथमिक की दर्ज कराई गई है। इस प्रकार जिले में बड़ी संख्या में फर्जी नियोजित शिक्षकों के कार्यरत रहने की संभावना और प्रबल हो गई है। कई शिक्षकों के द्वारा तो सक्षमता परीक्षा के लिए आवेदन ही नहीं किए गए हैं।

      ऐसे फर्जी नियोजित शिक्षक अब तक अवश्य सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इन शिक्षकों पर फर्जी होने की आशंका है… बेन प्रखंड के प्राइमरी स्कूल बेनिया बिगहा के शिक्षक अजीत कुमार, नूरसराय प्रखंड  के मिडिल स्कूल बड़ारा तथा प्राइमरी स्कूल अधियारा पर के शिक्षक अमित कुमार, बिहारशरीफ प्रखंड के मिडिल स्कूल ओकनावा की अनिता कुमारी नाम की दो शिक्षिका, परवलपुर प्रखंड के प्राइमरी स्कूल गांधीनगर के शिक्षक दीपक कुमार, प्राइमरी स्कूल लोदीपुर-दरियापुर की शिक्षिका खुशबू कुमारी, बिहार शरीफ प्रखंड के मिडिल स्कूल मजीदपुर के शिक्षक मनीष कुमार चौधरी, मिडिल स्कूल चोरसुआ के शिक्षक साक्षी सुमन, प्राइमरी स्कूल गांधीनगर परवलपुर के शिक्षक संतोष कुमार पासवान, प्राइमरी स्कूल भदौल डीह हिलसा के शिक्षक गीता कुमारी, प्राइमरी स्कूल खादसरिया नगरनौसा की शिक्षिका बबीता कुमारी, उत्क्रमित मिडिल स्कूल शहरी के शिक्षक विजेंद्र कुमार, प्राइमरी स्कूल मानसापुर चंडी की शिक्षिका मोनी कुमारी, हरनौत प्रखंड के प्राइमरी स्कूल किचनी की शिक्षिका मोनी कुमारी, बेन प्रखंड के मिडिल स्कूल छकौडी विगहा की शिक्षिका नीतू कुमारी, हरनौत प्रखंड के प्राइमरी स्कूल शाहपुर की शिक्षिका प्रेमलता कुमारी, रहुई प्रखंड के मिडिल स्कूल दुलचंदपुर की शिक्षिका पूजा कुमारी, हिलसा प्रखंड के एक ही विद्यालय मिडिल स्कूल चिकसौरा की दो-दो शिक्षिका पूजा कुमारी, बिहार शरीफ प्रखंड के मिडिल स्कूल सिंगारहाट के शिक्षक रत्नेश प्रसाद सिन्हा, गिरियक प्रखंड के प्राइमरी स्कूल चक दिलावर के शिक्षक रवि रंजन कुमार, चंडी प्रखंड के प्राइमरी स्कूल सालेहपुर की शिक्षिका सुषमा कुमारी, गिरियक प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल पोखरपुर की शिक्षिका कविता कुमारी, गिरियक प्रखंड केही मिडिल स्कूल घोसरावा के शिक्षक राजेश कुमार, बेन प्रखंड के उर्दू प्राइमरी स्कूल मैजरा की शिक्षिका शैला कुमारी।

      इसी प्रकार गिरियक प्रखंड के ही मिडिल स्कूल आदमपुर के शिक्षक सैयद सैफ अहमद, इस्लामपुर प्रखंड के प्राइमरी स्कूल जोलहविगहा की शिक्षिका नीतू कुमारी, हिलसा प्रखंड के मिडिल स्कूल हिलसा की शिक्षिका नूतन कुमारी, चंडी प्रखंड के प्राइमरी स्कूल रसलपुर के शिक्षक राहुल कुमार, बेन प्रखंड के  प्राइमरी स्कूल इनायतपुर के शिक्षक राहुल कुमार, मिडिल स्कूल बलवापर हिलसा के शिक्षक राजीव कुमार, हरनौत प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल संदलपुर के शिक्षक सदानंद सिन्हा, सरमेरा प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल बढ़िया की सोफिया तरन्नुम नाम की दो शिक्षिका, बिहारशरीफ प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल शेखोपुर की शिक्षिका सुजीता कुमारी, चंडी प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल गदनपुरा की शिक्षिका श्वेता रानी, नगरनौसा प्रखंड के प्राइमरी स्कूल अरियिवा के शिक्षक संतोष कुमार राज चंडी प्रखंड के प्राइमरी स्कूल गंजपर की शिक्षिका खुशबू कुमारी, बिहार शरीफ प्रखंड के एक ही विद्यालय में कार्यरत उत्क्रमित मिडिल स्कूल मेहनौर के दो शिक्षक बाबूलाल चौधरी, गिरियक प्रखंड के प्राइमरी स्कूल बरहैटा की शिक्षिका विभा कुमारी तथा थरथरी प्रखंड के उत्क्रमित मिडिल स्कूल चैनपुर की शिक्षिका पूनम कुमारी।

      किसान कॉलेज के प्रोफेसर संग अभद्र व्यवहार के लिए माफी मांगे मंत्री श्रवण कुमार : छोटे मुखिया

      बरगद के पेड़ से झूलता मिला डेंटल कॉलेज की महिला सफाईकर्मी की लाश

      प्रेम प्रसंग में पड़ी महिला की हत्या कर बरगद की डाली से टांग दिया

      मंत्री श्रवण कुमार की मानसिक हालत बिगड़ी, चंदा कर ईलाज कराएगी राजद

      नाबालिग संग दुष्कर्म मामले में दोषी को 20 साल कठोर कारावास की सजा

       

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!