अन्य
    Friday, April 12, 2024
    अन्य

      ACS केके पाठक के आदेश से 24 घंटा के अंदर गई हजारों शिक्षक की नौकरी

      नालंदा दर्पण डेस्क। बिहार के सरकारी स्कूलो में बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित हजारों शिक्षक की नियुक्ति की गई है, जो योगदान कर पढ़ा रहे हैं। इस बीच अचानक शिक्षा विभाग के आदेश से यहां करीब 14 हजार अतिथि शिक्षकों की नौकरी चली गई है। अब ये अतिथि शिक्षक मात्र एक एक अप्रैल से बेरोजगार हो जाएंगे।

      खबरों के अनुसार बिहार के 4257 अतिथि शिक्षकों की सेवा 1 अप्रैल, 2024 से समाप्त कर दी जाएगी। इसको लेकर बिहार शिक्षा विभाग के मुख्य अपर सचिव केके पाठक के निर्देश पर निदेशक कन्हैया प्रसाद की ओर से सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को एक पत्र जारी किया गया है।

      शिक्षा विभाग की ओर से जारी पत्र में लिखा गया है शिक्षा विभाग की ओर से जारी पत्र में लिखा गया है कि 25 जनवरी 2018 से राज्य में उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अतिथि शिक्षकों की सेवा जा रही है।

      अभी वर्तमान में कक्षा- 09वीं और कक्षा- 10वीं के लिए 37847, कक्षा- 11वीं-12वीं के लिए 56891 और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कुल- 94738 शिक्षकों की नियुक्ति कर उन्हें विद्यालयों में पदस्थापित किया जा चुका है। इस स्थिति में अतिथि शिक्षकों को सेवा में बनाये रखने की कोई आवश्यकता नहीं है।

      बता दें कि  बिहार में 4257 अतिथि शिक्षकों की सेवा 31 मार्च 2024 को समाप्त हो रहा है। ये शिक्षक 6 वर्षों से राज्य के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत थे, और अब शिक्षा विभाग द्वारा उनकी सेवा समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। शिक्षा विभाग के निदेशक कन्हैया प्रसाद द्वारा सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को इस संबंध में एक पत्र जारी किया गया है।

      चौथा दिन भी बंद है पूरा बाजार, जानें CM नीतीश के हरनौत का हाल

      होली मनाना पड़ा महंगा, 20 शिक्षकों पर कार्रवाई की अनुशंसा

      देसी कट्टा के साथ शराब पीते युवक का फोटो वायरल, जानें थरथरी थानेदार का खेला

      नालंदा जिला दंडाधिकारी ने इन 48 अभियुक्तों पर लगाया सीसीए

      राजगीर नेचर-जू सफारी समेत केबिन रोपवे का संचालन बंद

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!